search
  • Home
  • Quote
  • यादों की किताब

यादों की किताब उठा कर देखी थी मेने,

पिछले साल इन दिनों तुम मेरे थे।

GauravRajput.com

Leave a Reply

Categories

Tags

Share it on your social network:

Or you can just copy and share this url
Related Posts