search
  • Home
  • Quote
  • जज़ीरे लिए बैठा है समाज

आज़ादी है,

अधिकार है

मगर कागज़ी है सब,

जज़ीरे लिए बैठा है समाज

बांधने को तुम्हें बेड़ियाँ।

GauravRajput.com

Comments:

Leave a Reply

Share it on your social network:

Or you can just copy and share this url
Related Posts